केवल रण होगा

भारत माता का अपमान, देश नहीं सह सकता है |
देश द्रोह की बात जो बोले यहाँ नहीं रह सकता है |
भारत के सब गद्दारों को, शूली पर लटका दो अब |
माँ का दुश्मन जो भी हो फ़ौरन ही चटका दो अब |
भारत के बच्चे बच्चे का रक्त यहाँ अब उबल गया |
देश द्रोहियों से लड़ने को रण में है अब उतर गया |
है बहुत दिखाई मानवता , अब तो केवल रण होगा |
एक एक दुश्मन का पंकज अब तो यहाँ मरण होगा |
आदेश कुमार पंकज

Leave a Reply