बेगाने

हर पहलुओं को देखा है हमने
तुझ सा कोई दूसरा नहीं ,
तुझे समझाना तो आसान था
पर कम्बक्त दिल ही बेगाना था,
न झुकी तेरी ऑखें
न बदली मेरी बातें ,
इसी हेरा फेरी ने
जिन्दगी बदल दी ,
ख्वाब से निकला
हकीकत को देखा ,
मेरा दिल लगाना
बेगाना सा हो गया ,
क्या यही प्यार है ?

शिवम् सिह शिवा

One Response

  1. babucm babucm 09/05/2016

Leave a Reply