जल ही जीवन

जल जल है एक अनमोल रत्न
इसे बचाओ करो यत्न

जल है प्रकृति की आन
जल से जीवों मे है जान

जल है जीवन का आधार
जल बिन सूना है संसार

जल है पंचभूतों का अंग
जल बिन जीवन हो जाये भंग

जल का जीवन में महत्व बड़ा
जल से ही संसार खड़ा

जल का नहीं कोई आकार
जल की महिमा अपरंपार
-योगेश कुमार 'पवित्रम'

4 Comments

  1. C.M. Sharma babucm 05/05/2016
  2. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 05/05/2016
  3. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 05/05/2016
  4. योगेश कुमार 'पवित्रम' योगेश कुमार 'पवित्रम' 05/05/2016

Leave a Reply