गौ माता की दुर्दशा

गौ माता की दुर्दशा
कैसा अत्याचार
हुआ क्यों ये हादसा
गौ माता के साथ

सब ग्रंथों की सार है
सर्वगुणों की खान
जग में बड़ा मान है
इनको करें प्रणाम

बड रहीं अब हत्याएं
बड रहें हैं पाप
हत्यारों की कोशिशें
ले न सकेंगीं सांस

अश्रु दुःख से बह रहे
गौमाता के आज
हैं बड़ी संताप में
देखो हैं लाचार

प्रतीछा कर रहीं लाल की
रखने आएगा लाज
गौमाता दुःख से पुकार रही
आ जा मेरे लाल

ट्रकों में भर ले जा रहे
गौमाता को आज
चडाने बलिले जा रहे
देखो नर कंकाल

गौमाता दुःख से कह रही
मत करो संहार
पृथ्वी लाल अब हो रही
देख कर ये संताप

गौमाता देखो बिलख रही
कर ईस्वर से फरियाद
क्या परोपकार की सजा यही
कैसा ये इंसाफ

देवेश दीक्षित
9582932268

One Response

  1. C.M. Sharma babucm 05/05/2016

Leave a Reply