इंसान ने है बाँट दिया संसार को।

God has given everything equally to all the persons.
धरती माँ ने पनाह दी है,अपनी सब संतानों को।
ये तो हम इंसान है,जिसने बाँट दिया संसार को।
सूरज की रोशनी सब समान रूप से पाते हैं।
उसकी धूप की तपिश का हर इंसान आनंद उठाते है।
ये तो हम इंसान है,जिसने बाँट दिया संसार को।
चाँद भी बिखेरता है,अपनी चांदनी सारे संसार में।
कोई भेदभाव नहीं है करता,इस जहाँ के इंसानों में।
ये तो हम इन्सान हैं,जिसने बाँट दिया संसार को।
फूलों की सुंदरता भी सबको समान रूप से भाती है,
उसकी महक हर एक इन्सान के मन को प्रफुल्लित कर जाती है।
ये तो हम इंसान है जिसने बाँट दिया संसार को।
By;Dr Swati Gupta

2 Comments

  1. babucm babucm 05/05/2016
    • Dr Swati Gupta Dr Swati Gupta 05/05/2016

Leave a Reply