आपकी कीमत

आपकी कीमत

आपकी नाक लाख की
आपका चेहरा है करोड़ी
आपकी आँखें हैं अनमोल
आपकी छाती की
कीमत ना पूछो,
आपके बाल हैं सुनहरी
चाँदी सा आपका तन
हीरे सी पारदर्शी मन
हर अंग के तुम्हारे
अपनी-अपनी कीमत है
फि र तुमने अपने
इस तन की
क्या मामूली सी
कीमत लगाई है।
सिर्फ और सिर्फ
एक हजार रूपये।

One Response

  1. C.M. Sharma babucm 04/05/2016

Leave a Reply