शायरी – तमन्नायें

मेरी आँखों में देखोगी, तमन्नायें तुमको पाने की,
तुम्हारे ख्वाबों पर ज़ालिम, हमेशा मर-मिट जाने की,
मन में,दिल में,राहों में, फ़क़त तुम ही समायी हो,
कहो किसने इजाज़त दी, तुम्हें मुझको सताने की;

4 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 02/05/2016
    • Ankur swet 03/05/2016
  2. Er. Anuj Tiwari"Indwar" Er. Anuj Tiwari"Indwar" 02/05/2016
    • Ankur swet 03/05/2016

Leave a Reply