१२.पापा, चिज्जी ले आना…………. |गीत|– “मनोज कुमार”

बिटिया की खुवाइशों को गीत में ढ़ालने की कोशिश ………………


पापा पापा पापा, चिज्जी ले आना |
जाओ जब बाजार, चिज्जी ले आना ||
टॉफी चाकलेट ज्यादा, तुम ले आना |
लेकर चिज्जी, जल्दी तुम घर आना ||

पापा पापा पापा, चिज्जी ले आना…………………

अब है सर्दी,गरम चिज्जी ले आना |
और नही कुछ चाहूँ, चिज्जी ले आना ||
मूंगफली काजू बादाम, गज्जक ले आना |
दूर करें ये सर्दी जल्दी, जल्दी चिज्जी ले आना ||

पापा पापा पापा, चिज्जी ले आना…………………

अब है गर्मी, दूसरी चिज्जी ले आना |
अब ना मानू, चहिये चिज्जी ले आना ||
कोक फ्रूटी अनार संतरा, केला ले आना |
बचे रहेंगे हम लू से, जूस मैंगो ले आना ||

पापा पापा पापा, चिज्जी ले आना…………………

अब सर्दी न गर्मी, कोई चिज्जी ले आना |
जरूर चाहिए कुछ भी, चिज्जी ले आना ||
ख़त्म हो गया, मेरा कोमप्लैन ले आना |
दूध लगे ना अच्छा, उस बिन ले आना ||

पापा पापा पापा, चिज्जी ले आना………………….

“मनोज कुमार”

8 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 26/04/2016
    • MANOJ KUMAR MANOJ KUMAR 27/04/2016
  2. C.M. Sharma babucm 26/04/2016
    • MANOJ KUMAR MANOJ KUMAR 27/04/2016
  3. अरुण अग्रवाल अरुण जी अग्रवाल 26/04/2016
    • MANOJ KUMAR MANOJ KUMAR 27/04/2016
  4. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 26/04/2016
    • MANOJ KUMAR MANOJ KUMAR 27/04/2016

Leave a Reply