मोती………..


आग की तपन पाकर कभी फूल नहीं खिलते
दीप और धूप जलाने से भगवान नहीं मिलते
गुजरना पड़ता है सबको एक निमित्त प्रक्रिया से
ऐसे ही कोई पत्थर मोतियों में नहीं बदलते !!
!
!
!
डी. के. निवातियाँ ___________@

6 Comments

  1. C.M. Sharma babucm 21/04/2016
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 21/04/2016
  2. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 21/04/2016
  3. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 21/04/2016
  4. sarvajit singh sarvajit singh 21/04/2016
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 22/04/2016

Leave a Reply