ज़रिया है…

सिमटी मेरी दुनिया
तेरे बाहों के दरमियाँ
तूँ मेरी दुनिया ही नहीं
मेरे जीने का ज़रिया है…

…इंदर भोले नाथ…
http://merealfaazinder.blogspot.in/
addtext_com_MTE1OTI4MjI2NDY

2 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 12/04/2016
  2. Inder Bhole Nath Inder Bhole Nath 15/04/2016

Leave a Reply