योगी

उ.प्र.; समस्या और समाधान —-

फैलता जाली का जाल फगवा हुआ बेहाल
और प्रशासन भी हुआ रेबीज रोगी है
यहाँ सुनवाई खास कौम जात की होती है
तंत्र ये कानून का भी आज भ्रष्ट भोगी है
हो चौरासी कोस चाहे हो गंगा बनारस की
हर जगह लाठियां ही खाए आज जोगी है
जन्मभूमि,गाय,गंगा,गीता, चाहे गायत्री हो
हर समस्या का समाधान एक योगी है

“योगी लाओ up बचाओ”

कवि देवेन्द्र प्रताप सिंह “आग”
9675426080

3 Comments

  1. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 06/04/2016
  2. कवि देवेन्द्र प्रताप सिंह "आग" कवि देवेन्द्र प्रताप सिंह "आग" 06/04/2016
  3. कवि देवेन्द्र प्रताप सिंह "आग" कवि देवेन्द्र प्रताप सिंह "आग" 06/04/2016

Leave a Reply