हम तो इतने खुशनशीब….

हम तो इतने
खुशनशीब भी न थे
की ह्मारा गम
आँसुओं के मोती बन
हमारी आँखो से
बाहर निकल पाता
ये ख़ुशनसीबी भी जानेमन
तुम्हारे हिस्से ही आई

One Response

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 03/04/2016

Leave a Reply