दिल को सुकून आ जाये…….. (प्रेम गीत )

दिल को सुकून आ जाये..!!

बहका बहका मन है, दिल हुआ उदास रहा ना जाये !
तू अगर मिलने आ जाये, दिल को सुकून आ जाये !!

खेले थे तेरे संग गाँव में
कभी धूप, कभी छाँव में
जीवन के वो बीते हुए पल
भूले से अगर मिल जाये , दिल को सुकून आ जाये..!!

बहका बहका मन है, दिल हुआ उदास रहा ना जाये !
तू अगर मिलने आ जाये, दिल को सुकून आ जाये !!

बहुत दिन गुजारे है तेरे बिन
कैसे बीती है ये राते तेरे बिन
कोई मिला नहीं यार तुझ सा
जिससे कहे अपना हाल-ऐ-दिल, कुछ कहा ना जाये !

बहका बहका मन है, दिल हुआ उदास रहा ना जाये !
तू अगर मिलने आ जाये, दिल को सुकून आ जाये !!

हर एक महफ़िल खाली लगती है
तेरे बिन ये जींद बेगानी लगती है
किस कदर खोया हूँ तेरे प्यार में
दिल की बात जुबा पे आ ना पाये, दर्द ऐ दिल सहा ना जाये !

बहका बहका मन है, दिल हुआ उदास रहा ना जाये !
तू अगर मिलने आ जाये, दिल को सुकून आ जाये !!

!
!
!
डी. के. निवातियाँ ___________@

2 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 06/04/2016
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 07/04/2016

Leave a Reply