मानव अहन्कार किस बात पर

मानव जाति को है आज किस बात पर अहन्कार!
किस प्रगति पर गर्व किया !
क्योकि हमने दूर ग्रहो मे यात्रा किया
या फिर अन्तरीक्श मे आधिपत्य जमाया
अणु से परमाणो बनाया ?
रट लगाते रहे सत्य और अहिसा का और अपनो का क्त्ल किया !
धरम परिवर्तन करवाया, मन्दीर मस्जीद तोड्वाया
नारी जाति पर जूल्म किया
दलितो, गरीबो को लेकर राजनीति खेला
फिर भी कहते है कि हम प्रगति के राह चल चला
जब तक न हो मानव मन का विकास
सारी प्रगति लगेगी वक्वास १
मानव कर रहे वो क्रित्य
जो न करे जानवर-रे मानव!दानवी प्रव्रिती त्याग कर
न जा सके अगर महामानव बनने की ओर
अन्त्ततः जीए हम मानव बनकर !!

Leave a Reply