जय भारत

जय जय जय हो भारत तेरी
तेरी गोद में खेलें हजारों नदियाँ
गंगा यमुना कृष्णा कावेरी
राम और कृष्ण् की प्यारी |

यहाँ हर धर्म और जाति यहाँ
ये है भारत सबसे न्यारा
सबसे न्यारा सबसे प्यारा
ये है प्यारा देश हमारा |

हिन्दू मुस्लिम शिख इसाई
सब आपस में हैं भाई – भाई
यहाँ भेद नहीं आपस में
विश्वास है अनेक में |

यहाँ पर हजारों अमीर और गरीब हैं
यहाँ धनवान और निर्धन भी हैं
फिर भी आपस में नहीं है बैर
फिर भी आपस में कितना प्यार |

देश प्रेम है भरा पड़ा
मन में बैर नहीं पड़ा
मन भी साफ़ दिल भी साफ़
हर तरफ है इंसाफ |

Kamlesh Sanjida photo
कमलेश संजीदा

जय   भारत