कुछ वक़्त……. – गज़ल

कुछ वक़्त सांसें चलने दो मेरी,
कुछ वक़्त निहारने दो;
कुछ वक़्त जीत लेने दो खुदसे,
कुछ वक़्त हारने दो;

कुछ वक़्त आँखों में बहने दो नदियां,
कुछ वक़्त बहने दो प्यार;
कुछ वक़्त देखो दूर से मुझको,
कुछ वक़्त पास आओ यार;
कुछ वक़्त पास मुझको बैठाकर,
कुछ वक़्त गुज़ारने दो;
कुछ वक़्त जीत लेने दो खुदसे,
कुछ वक़्त हारने दो;

कुछ वक़्त आने दो जीवन में ऐसे,
जैसे कोई ख़्वाब हो;
नज़रों में लहरें बहें प्यार की,
मगर दिल बेताब हो;
कुछ वक़्त साक़ी से करने दो बातें,
कुछ वक़्त सुनने दो आलम;
कुछ वक़्त भरने दो आँखों में शबनम,
कुछ वक़्त बहने दो बालम;
कुछ वक़्त बिगाड़ देने दो बातें,
कुछ वक़्त संवारने दो;
कुछ वक़्त परेशान होने दो दिल को,
कुछ वक़्त सहारने दो;
कुछ वक़्त दिल की रहने दो दिल में,
कुछ वक़्त इज़हारने दो;
कुछ वक़्त जीत लेने दो खुदसे,
कुछ वक़्त हारने दो।

One Response

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 15/03/2016

Leave a Reply