परख़ की कमी

तज़ुर्बे और परख़ की कमी के कारण कुछ लोग अपने ज़िन्दगी में
पलने वाले इंसानी रुपी अजग़र को पहचान नहीं पाते…..
वरना कुछ लोग तो सात फ़ीट की दुरी पर से ही
अपने दुश्मन और मित्र में फर्क कर लेते है …..!!!

Leave a Reply