||पापी इंसान |हाइकू ||

“खुनी नदिया
बहाते आजकल
पापी इंसान |

ना दया कोई
ना करते रहम
पापी इंसान |

काटते सिर
अपने ही लोगो का
आतंकी लोग |

नरसंहार
मानवता के शत्रु
पापी इंसान |

डरते लोग
ये आतंक का साया
टूटती श्रद्धा ||”

3 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 24/02/2016
  2. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 24/02/2016
  3. omendra.shukla omendra.shukla 25/02/2016

Leave a Reply