||मायाजाल देशद्रोह का ||हाइकू |

“रचा है आज
कुछ माया का जाल
ये गद्दारो ने |

किया भ्रमित
पुनः देशभक्ति को
लगाके बैर |

खोंपा खंजर
सीने में भारत के
हसते लोग |

आतंकी देव
बन गया है आज
पुजते नेता |

दिगभ्रमित
कानून कागजों में
अँधा हो बैठा |

पापी जनता
रचती इतिहास
गुलामी पुनः ||”

3 Comments

  1. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 18/02/2016
  2. omendra.shukla omendra.shukla 18/02/2016
  3. Anuj Tiwari 20/02/2016

Leave a Reply