काम की गरिमा

जग में होते अनेको काम,
कुछ साधारण, कुछ महान कुछ अति महान,
पर याद रखना मित्रों जीवन में,
हर काम, काम और केवल काम होता है,
छोटा बड़ा तो लिखा हुआ नाम होता है |

हर काम की अपनी गरिमा होती है ,
यही ना मान कर अक्सर हमसे,
गलती होती है,
बड़े काम का अवश्य करो सम्मान,
पर छोटे कामों का कभी ना हो अपमान |

छोटे काम करने वाले जब तुमसे सम्मान पाएंगे,
देखना हज़ारों दुवाएं देते चले जायेंगे,
उनसे ज्यादा मोल भाव ना करना,
स्वयं को उनके स्थान पर रखना,
स्वयं उनकी वेदना समझ जाओगे,
जीवन भर भेद भाव ना कर पाओगे,
सुई का काम तलवार, कर नहीं सकती,
केवट बिना जगतरान से तमसा पार,
नहीं हो सकती |

6 Comments

  1. omendra.shukla omendra.shukla 16/02/2016
    • Ravi Vaid 16/02/2016
  2. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 16/02/2016
    • Ravi Vaid 16/02/2016
  3. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 16/02/2016
    • Ravi Vaid 16/02/2016

Leave a Reply