||हाइकू | तन्हापन ||

||हाइकू | तन्हापन ||

बेखबर हूँ
खुद की ख्वाहिशों से
मिटता चला |

छोड़ दुनिया
चाहत लिए तेरी
खुद लापता |

अनोखापन
वो प्यारा एहसास
छूटे ना साथ |

अंजानी बातें
हलचल करती
वो सुनी यादें |

ना टूटे कभी
ये दिलों का बंधन
संग तन्हाई ||

3 Comments

  1. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 04/02/2016
  2. omendra.shukla omendra.shukla 04/02/2016
  3. Meena Bhardwaj Meena bhardwaj 04/02/2016

Leave a Reply