खामोशियों मे……..IBN

खामोशियों मे डूबी शाम है,
तन्हाइयों मे डूबे हम..!
हम उसके (शाम) आने से,
वो किसी (सूरज) के जाने से…!!

Acct- इंदर भोले नाथ…

addtext_com_MDk1MTEzMjEwODIw

Leave a Reply