पानी

आग लगे तो बुझाता हूँ
प्यास लगे तो मिटाता हूँ
सब मुझपे ही आश्रीत है
फिर भी बर्बाद करते हैं…….

ना ही तुम ज्यादा खर्च करो
ना ही तुम कम खर्च करो
जितना में हो तुम्हारा काम
उतना में ही तुम काम करो…….

मैं कहता हूँ हमपर भी
कुछ तो थोड़ा ध्यान दो
ऐसा ना हो की तुम पचताना
प्यासे ही तुम मर जाना
ऐसे ना हमे दूषित करो………

हमारे लिए भी अभियान चलाओ
हमे भी स्वस्थ बनाओ
यदि तुम हमे दूषित नहीँ करोगे
तब तुम भी स्वस्थ रहोगे
चाहे जानवर हो या इंसान
सबके लिए जरुरी हैं पानी
कोई बुझाता मुझसे प्यास
कोई करता मुझमें निवास
यही हैं मेरी कहानी
क्योंकि मैं हूँ पानी…….!!
@md.juber husain