||संवेदनहीनता ||हाइकू ||

||संवेदनहीनता ||हाइकू ||

“बिका कानून
फिर बुरा संयोग
कटते लोग |

इंसानियत
मिट गयी जहाँ से
भय जीवन |

शांत मीडिया
नाही असहिष्णुता
बिका ईमान ||

सभ्य समाज
सेक्युलर इंसान
बोलती बंद |

महापुरुष
अन्जान सी जगह
व्यर्थ की चिंता ||”