कलम……………( 3 )

जब जब कलम ने आवाज उठाई है
दुनिया में सदैव नई क्रांति छाई है
बंद हो जाए जब राहे हर दिशा से
तब तब कलम ने ही राह दिखाई है !!

!
!
!
डी. के. निवातिया ……!!

6 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 18/01/2016
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 18/01/2016
  2. omendra.shukla omendra.shukla 18/01/2016
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 18/01/2016
  3. Meena Bhardwaj Meena bhardwaj 18/01/2016
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 19/01/2016

Leave a Reply