इक नज़र इधर भी__________

इक नज़र इधर भी_________
कल जैसी थी उन तारीखों का आज भी वही हाल है
कही जलसे तो कही कोई आज भी भूख से बेहाल है
आँखे मूंद भी लू तो कानो को उनकी सिसकिया सुनाई दे
तो कैसे मुख से कह दू की आपको मुबारक़ नया साल है
मैं नहीं कहता मत जश्न करो नहीं कोई खुशियाँ मनाओ
विकास पर इक नज़र प्यार भरी उन पर भी घुमाओ
चमचमाती सड़को पर जो
हमेशा रहते फटेहाल है
तब कहेगा दिल भी आपको मुबारक़ नया साल ह
______”विकास”_______