!! पेट की आग !! हाइकु

पेट की आग !
ठण्डा ना कर सका ,
ये ठण्डा माघ !!

तपती भूख !
आज रात का चाँद ,
रोटी सा लगा !!

Leave a Reply