“ख़्वाब”डॉ. मोबीन ख़ान

उनके टूटे हुए ख़्वाब सितारे बनकर,
आसमान में बिखर जाते हैं।

कुछ ही लोग हैं इस जहांन में,
ज़ो दोनोँ की ख़ैरियत चाहते हैं।।

4 Comments

  1. Rinki Raut Rinki Raut 16/12/2015
    • Dr. Mobeen Khan Dr. Mobeen Khan 16/12/2015
  2. पंडित राजन कुमार मिश्र पंडित राजन कुमार मिश्र 16/12/2015
    • Dr. Mobeen Khan Dr. Mobeen Khan 16/12/2015

Leave a Reply