वीर सपूतों

नमन है तुमकों वीर सपूतों,
कर रहे सुरक्षा तुम सरहदों की,
जमे हुए हो तुम तूफानों में आँधी में,
पर्वतों की तरह……..

हौसले हैं तुम्हारे आसमानों से ऊँचे,
संकल्प है तुम्हारा द्रढ़ चट्टानों की तरह, डटे हुए हो तुम सरहदों पर,
हिमालय की तरह……

नमन है तुमको वीर सपूतो
कर रहे सुरक्षा तुम सरहदो की……………!

2 Comments

  1. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 14/12/2015
    • asma khan asma khan 14/12/2015

Leave a Reply