कवियों का एक छोटा सा संसार…………..!

हिन्दीसाहित्य ने उभरते हुए लेखको, कवियों, विचारको को एक नया मंच प्रदान किया है, दिन प्रतिदिन बढ़ती इसकी ख्याति के परिपेक्ष्य में हमारे सभी प्रिय कवि साथियो को समर्पित कुछ पंक्तिया पेश करता हूँ, आशा करता हूँ आप को पसंद आएगी !!

मिले थे सब अजनबी की तरह
आज थोड़ा सा जानते है, थोड़े से अनजान है !
यहां देखो इंटरनेट की दुनिया में
कवि भाइयो का एक छोटा सा संसार है !!

रोज होता है तखल्लुस अपना
नए कलाम के साथ नए कलमदारो से !
देख कर साहित्य के प्रति रूचि
होता अभिमान की संस्कृति से सरोकार है !!

गर्व की बात तो अब ये है
युवा पीढ़ी के नर-नारी दोनों साथ चले !
बड़ा अच्छा लगता देखकर
प्रत्येक विषय पर रचनाओं के विविध प्रकार है !!

गीत, ग़ज़ल, कलाम, कविता,
दोहे, मुक्तक, हाइकु शेर शायरी जैसी विधाए
करुण, हास्य, व्यंग, कटाक्ष,
प्रेम प्रेम और विरह के जज्बातों की भरमार है !!

नमन करता हूँ सभी भाइयो को
अलग पेशे से ताल्लुक पर लिखने का शौक रखते है !
निकल कर कुछ वक़्त खुद के लिए
मनोरंजन के साथ साथ करते साझा अपने विचार है !!
!
!
!
डी. के. निवातियाँ _____!!

16 Comments

  1. davendra87 davendra87 02/12/2015
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 02/12/2015
  2. Manjusha Manjusha 02/12/2015
    • डी. के. निवातिया dknivatiya 02/12/2015
  3. Shishir "Madhukar" Shishir 02/12/2015
    • डी. के. निवातिया dknivatiya 02/12/2015
  4. sushil sushil 02/12/2015
    • डी. के. निवातिया dknivatiya 02/12/2015
  5. नितिश कुमार यादव नितिश कुमार यादव 02/12/2015
    • डी. के. निवातिया dknivatiya 02/12/2015
  6. asma khan asma khan 02/12/2015
    • डी. के. निवातिया dknivatiya 02/12/2015
  7. संदीप कुमार सिंह sandeep 05/12/2015
    • डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 02/03/2016
  8. kiran kapur gulati kiran kapur gulati 21/09/2017
  9. डी. के. निवातिया डी. के. निवातिया 21/09/2017

Leave a Reply