गाओ जो कुछ वेद ने गाया, गाना सार

गाओ जो कुछ वेद ने गाया, गाना सार ।
जिसे ब्रह्म आगम कहें, सो सागर आधार ।।

सो सागर आधार लहर परपंच पिछानो ।
फेन बुदबुद नाम जुड़े होने से मानो ।।

गंगादास कहें नाम-रूप सब ब्रह्म लखाओ ।
अस्ति, भाति, प्रिय, एक सदा उनके गुन गाओ ।।

Leave a Reply