मुसाफिर का सफर

कलम छोड तो दू कभी मैं भी हाथ से
हादसे रुकने का नाम भी तो लें कभी
R.K.V.(MUSAFIR)
******

Leave a Reply