प्यारी धरा

प्यारी धरा

देखकर हरियाली इसकी
अनायास………………
मुख से ये फुट पड़ा
मेरे लिये यदि………….
स्वर्ग है तो………….
वो है मेरी प्यारी धरा।
आज यदि भगवान भी आके
मुझसे छीने जो धरती
खुद भी धरती के साथ
उसके पास चला जाऊं
जहां भी ले वो मुझको
उसके साथ चला जाऊं
हर जगह संग में अपने
धरती को आंखों में पाऊं
बस यही तो चाहता हूं मैं
धरती मां तुझे शीष झुकाऊं
प्रणाम मां !,
प्रणाम मां !,
प्रणाम मां !
-ः0ः-

Leave a Reply