भैया दूज।वर्ण पिरामिड।

वर्ण पिरामिड। भैया दूज ।

यें
धागें
स्नेह के
अनकहे
गुंजायमान
बन्धन अटूट
बहनों की है शान

वो
टीका
माथे का
भैया दूज
फैला प्रकाश
एक दृढ़ स्तम्भ
प्रेम और विश्वास

….राम केश मिश्र

Leave a Reply