माँ । वर्ण पिरामिड।

1-वर्ण पिरामिड । माँ ।

माँ
रोटी
खिलाती
दूधवाला
कातर आँखे
सड़क के पार
जाता लिये निवाला

दो
बूँद
कठिन
दुधमुँहा
तड़फ़ड़ाता
क्रंदन के स्वर
तन सिंहर जाता

वे
आँखे
दुर्दिन
पछताती
असहायता
थपकियां देती
आँखे नेह छिपातीं

…… राम केश मिश्र

Leave a Reply