चिवींगम

मुद्दों की चिवींगम बनाने का
कारोबार ज़ोरो पर है ,
हर खबर मसालेदार बनाने का
व्यापार ज़ोरो पर है ,
परिणाम ,बहस में अंदाज़े से
बिना इंसाफ निकालें लोग
मुफ्त में बदनामी और शौहरत
हो जाना अब ज़ोरो पर है ,
घडा फूट्ता हर बात का ,चौराहे पर
समझौता नहीं होता आपस में क्यों
क्या रिश्तों का वजूद ,मान,मर्यादा
सब निर्भर औरों पर है ।
RKV(MUSAFIR)
*****

Leave a Reply