* ताने *

माना की ताने झगड़े का जड़ होते
पर बहुतो का जीवन ए सवार देते ,

यह तो व्यक्ति विशेष पर है
वे इसे कैसे हैं लेते
वे इसके ऊर्जा को संचय करते
या यू ही बिखेर देते ,

ताने में असीम ऊर्जा हैं होते
जो सकारात्मक ले वो सवर जाते
जो नकारात्मक ले वो बिगड़ जाते
नाम निशानी सब मिटाते ,

ताने मार लोग भले को बुरा बना देते
लोहे को धुरा बना देते
ताने के उपज में हीं
कालिदास एवं तुलसी दास आते
जिनकी गाथा हैं जन-जन गाते ,

ताने में नोक-झोंक हैं दीखते
अपने रिश्ते में भी खरोच दीखते
ताने स्वर्ग को नर्क बना देते
शिखर को गर्त बना देते ,

आप से है गुजारिस
ताने से न घबराईए
इसकी ऊर्जा को
अपनी तागत बनाईए।

3 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir 07/11/2015
  2. नरेन्द्र कुमार नरेन्द्र कुमार 07/11/2015
  3. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 07/11/2015

Leave a Reply