आओ सब अवार्ड लौटायें …..

आओ सब अवार्ड लौटायें,
फिर से देश गुलाम बनायें।
मोदी मोदी क्यों करते हो,
भारत पे भी क्यों मरते हो।
पाक से अपना भाईचारा,
हिन्दू दुश्मन मुस्लिम प्यारा ।
बीफ-वीफ का कैसा चक्कर,
हम खा जायें देश बेच कर ।
एन.जी.ओ.दारू की प्याली,
फोर्ड देता भर -भर थाली ।
हिन्दू तुम बहरे हो आओ,
फोङ के आँखे देश लुटाओ।
अपने तो मजे हैं भाई
बहत्तर हूरें, चार लुगाई।