हवा

हवा

दूर-दूर तक सुनसान वादियां
जहां पर महके शीतल हवा।
हवा में ठंडक, थोड़ी-सी गर्मी
फूलों में सुगन्ध ओर नरमी
संग लाती है प्यारी हवा।
दूर-दूर तक सुनसान वादियां
जहां पर महके शीतल हवा।
आकाष में बादल छाए हुए से
बर्फिली वादियां हों जैसे
चारों ओर रंग बिखरा है हरा,
दूर-दूर तक सुनसान वादियां
जहां पर महके शीतल हवा।
चारों ओर फसलें हिलती-डुलती सी
नजर आती हैं वसुंधरा नाचती
अद्भूत लगता है ये नजारा,
दूर-दूर तक सुनसान वादियां
जहां पर महके शीतल हवा।
-ः0ः-

Leave a Reply