राम जी

सपने तो दिए हैं, अब उड़ान देना राम जी
विश्राम से पहले ऊँचा, मुकाम देना राम जी
सपने तो दिए हैं, अब उड़ान देना राम जी

तुम्हीं हमें दुनिया में लाए, तुमने ही रास्ते दिखाए
चौड़ा हो सीना तुम्हारा, ऐसी पहचान देना राम जी
सपने तो दिए हैं, अब उड़ान देना राम जी

अजब मेले लगाए, गजब करतब दिखाए
बढ़ती ही जाए हरदम, वो दुकान देना राम जी
सपने तो दिए हैं, अब उड़ान देना राम जी

जो काम दिए तुमने, हो जाएं पूरे हमसे
हमको यथोचित प्यार और सम्मान देना राम जी
सपने तो दिए हैं अब उड़ान देना राम जी

रास्ते में चोर लुटेरे, हम आसरे पे तेरे
अचूक जाए तीर, ऐसी कमान देना राम जी
सपने तो दिए हैं, अब उड़ान देना राम जी

सपने तो दिए हैं, अब उड़ान देना राम जी
विश्राम से पहले ऊँचा, मुकाम देना राम जी
सपने तो दिए हैं, अब उड़ान देना राम जी

4 Comments

  1. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 29/10/2015
    • Girija Girija 29/10/2015
  2. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 29/10/2015
    • Girija Girija 29/10/2015

Leave a Reply