इरादे नहीं बदलते …!!

तर्ज — इन्साफ की डगर पे….

रस्ते गुजर रहे हों मुस्किल भरे सफर से !
इरादे नहीं बदलते नाकामियों के डर से !!

इस जुवां पे हरदम तू सच का नाम लेना !
खुद को सम्हाल थोडी हिम्मत से काम लेना !

टूटे कभी जो हौसला बदनामियों के घर से !
इरादे नहीं बद्लते नाकामियों के डर से !!

कायरों के रंग पे खुद को कभी ना रन्गना !
ना बुजदिलों से डरना कभी बुजदिली ना करना !

रंग दे इस धरा को खुशियों के रंग भरके !
इरादे नहीं बदलते नाकामियों की डर से !!

ठोकर यहा लगेगी रस्ते उलझने वाले !
शिखर पर खडे है गिर-गिर के उठने वाले !

गिरना नहीं कभी तू अपनी इस नजर से !
इरादे नहीं बदलते नाकामियों की डर से !!

11 Comments

  1. Girija Girija 29/10/2015
    • Er. Anuj Tiwari"Indwar" Er. Anuj Tiwari"Indwar" 29/10/2015
  2. Rinki Raut Rinki Raut 29/10/2015
    • Er. Anuj Tiwari"Indwar" Er. Anuj Tiwari"Indwar" 29/10/2015
  3. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 29/10/2015
    • Er. Anuj Tiwari"Indwar" Er. Anuj Tiwari"Indwar" 29/10/2015
  4. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 29/10/2015
    • Er. Anuj Tiwari"Indwar" Er. Anuj Tiwari"Indwar" 29/10/2015
  5. Hitesh Kumar Sharma Hitesh Kumar Sharma 30/10/2015
    • Er. Anuj Tiwari"Indwar" Er. Anuj Tiwari"Indwar" 30/10/2015
    • Er. Anuj Tiwari"Indwar" Er. Anuj Tiwari"Indwar" 30/10/2015

Leave a Reply