“आवाज “

“मर जाते है लोग
मगर आवाजे नहीं मरती
बनके एक सन्देश
लोगो के दिलों में है बसती,

समेटता है इस जहाँ को
खौफ का आलम जब कभी ,
फैलती दहशत को रोकने को
उठती है एक आवाज फिर तभी ||”