“एक” डॉ. मोबीन ख़ान

रकीब और रमेश को लड़ते हुए देखा है।
पर कभी राम और रहीम को लड़ते हुए नहीं देखा।।

शायद यह दोनो एक ही है।
इसलिए किसी ने भी इन्हें जुदा नहीं देखा।।

फिर किस बात की है लड़ाई।
जब आसमां में खुदा और भगवन को लड़ते हुए नहीं देखा।।

2 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir 22/10/2015
  2. डी. के. निवातिया dknivatiya 22/10/2015

Leave a Reply