बेटियों को जन्मदिन आशीर्वाद – शिशिर “मधुकर”

यह कविता मैंने अपने एक मित्र की भतीजी “मिस्टी” के लिए उसके पहले जनम दिन पर भेंट स्वरुप लिखी थी. वर्तमान कविता में मिस्टी नाम की जगह बेटी शब्द का उपयोग इसे सभी के लिए उपयोगी बनाने के लिए कर दिया है.

इतनी छोटी सी बेटी को क्या मैं दूं जन्म दिवस उपहार
करता हूँ दुआ बस ईश्वर से पाए वो सबका प्यार दुलार
वो स्वस्थ रहे गुणी बनें और अच्छे हों आचार विचार
उसके यश से शोभित होंगी निश्चय ही सभी दिशाए चार
मात-पिता के जीवन को वो खुशियों से परिपूर्ण करेगी
खुद प्रकृति उसकी किस्मत में इंद्रधनुष के रंग भरेगी
अपनी मीठी सी बोली से वो सबके हृदय पर राज करेगी
एक दिन परिवार की हर बेटी उसके कामों पर नाज करेगी
खुश हो तब डालेगें सब उसके गले फूलों के हार
इतनी छोटी सी बेटी को क्या मैं दूं जन्म दिवस उपहार………..
दादा-दादी के सपनों को एक दिन बेटी साकार करेगी
नाना-नानी के होठों पर भी वो ढेरों मुस्कान धरेगी
सब सखी सहेलीं मिलकर उसके संग जीवन में उल्लास करेगीं
अपनेपन के भावुक बंधन का एक सुन्दर अहसास करेंगी
उसके मुख को देख कर होगा निश्चय ही एक हरष अपार
इतनी छोटी सी बेटी को क्या मैं दूं जन्म दिवस उपहार………..

शिशिर “मधुकर”

8 Comments

  1. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 20/10/2015
  2. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 20/10/2015
  3. Meena Bhardwaj Meena bhardwaj 20/10/2015
  4. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 20/10/2015
  5. anuj 20/10/2015
  6. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 20/10/2015
  7. asma khan asma khan 27/11/2015
    • Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 27/11/2015

Leave a Reply