सायरी ||

“रूठके वो याद आने लगे
पास आके अब दूर जाने लगे |
भुला दू कैसे उन्हें एक पल में
जिन्हे पाने में कई ज़माने लगे ||”

One Response

  1. Shishir "Madhukar" Shishir 19/10/2015

Leave a Reply