प्यार के कायल -शिशिर “मधुकर”

आप के इस प्यार के कायल तो हम सब लोग हैं
चाहने वालों का यूँ मिलना भी एक संजोग है
एक बात तुमको आज मैं दिल से बताता हूँ मगर
पास आकर दूर जाना चीर देता है जिगर
चाहत में इसलिए कोई तुम जल्दबाज़ी ना करो
तोड़ के रिश्तों को सहसा मन में उदासी ना भरो.

शिशिर “मधुकर”

2 Comments

  1. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 16/10/2015
  2. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 16/10/2015

Leave a Reply