“किसान” डॉ. मोबीन ख़ान

कौन कहता है इस जहां में सबको बराबरी का दर्ज़ा मिला है |
देखो किस कदर किसानो का दिल जला है |

ना बारिश की एक बूंद ना ही नहरों से पानी मिला है|

ना ही सरकार से कुछ रियायत ना ही खुदा का सहारा मिला है।

कौन कहता है इस जहां में सबको बराबरी का दर्ज़ा मिला है।

One Response

  1. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 14/10/2015

Leave a Reply