मैं सड़क हूँ |

मैं ,
सड़क हूँ ,
श्वेत – काली |
मस्त हूँ ,
होली – दीवाली |
झूमती हूँ ,
घूमती हूँ,
हर समय ,
मैं,
मुस्कराती|
शीत – वर्षा , ताप ,
सब कुछ,
हर समय ,
मैं ,
हँस के सहती |
फिर भी,
किसी से,
कुछ न कहती |
पर्वतों से हूँ ,
निकलती |
जंगलों से हूँ,
गुजरती |
हूँ दिखाती ,
आदमी को,
जंगलों की ,
शोभा निराली |
मैं,
सड़क हूँ,
श्वेत – काली |
मस्त हूँ,
होली – दीवाली |
घनघनाती ,
गनगनाती,
दौड़ती हैं,
गाड़ियाँ,
मेरे अक्ष पर |
घन चलाता
आदमी है ,
रोज ,
मेरे वक्ष पर |
जोड़ता है ,
तोड़ता है ,
मोड़ता है ,
वह मुझे ,
गलतियां,
वह,
खुद ही करता ,
दोष ,
मुझ पर छोड़ता है |
मैं कुपित,
उससे न होती |
धैर्य का ,
सन्देश देती |
मैं,
दे रहीं हूँ ,
नित्य इनको,
प्यार की ,
अनमोल थाली |
मैं ,
सड़क हूँ ,
श्वेत – काली |
मस्त हूँ ,
होली – दीवाली |
आदेश कुमार पंकज

5 Comments

  1. gyanipandit 10/10/2015
    • आदेश कुमार पंकज ADESH KUMAR PANKAJ 22/11/2015
  2. Shishir "Madhukar" Shishir "Madhukar" 11/10/2015
    • आदेश कुमार पंकज ADESH KUMAR PANKAJ 22/11/2015
  3. Manjusha Manjusha 22/11/2015

Leave a Reply