वो प्यार…….

ज़ुल्फो में उनकी उलझ कर, इस कदर खो गये हम कहीं;
कि तस्वीर भी उनकी, यादों में नहीं बसा पाये ।
अब गर सामने से उनके, बिना सलाम गुज़र गये;
तो डर है ता-ज़िन्दगी, वो हमें वे-व़फा ना समझती रहें ।

2 Comments

  1. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 09/10/2015
  2. Er. Anuj Tiwari"Indwar" Er. Anuj Tiwari"Indwar" 09/10/2015

Leave a Reply