शिक्षक

शिक्षक नदी की धारा है ,
यह जीवन की पतवार है |
इसकी कृपा मात्र से होता,
हम सबका जीवन पार है |
यह तो अगम – अगोचर है ,
इसका क्षेत्र बहुत व्यापक है |
यह देश जाति की संस्कृति है ,
यह जीवन का उन्नायक है |
यह त्रिदेवों से सर्वोपरि हैं ,
पंकज का इनको कोटि नमन |
शिक्षक दिवस के अवसर पर ,
हर शिक्षक का अभिनन्दन |
आदेश कुमार पंकज

2 Comments

  1. Shishir "Madhukar" Shishir 08/10/2015
  2. डी. के. निवातिया निवातियाँ डी. के. 08/10/2015